पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों पर भड़की कांग्रेस, जीतू ने चलाई साईकिल तो कार्यकर्ताओं ने धकाया ठेला

इंदौर कोरोना की मार झेल रहे प्रदेश के इंदौर शहर में आज केंद्र और राज्य सरकार के खिलाफ कांग्रेस का गुस्सा सडक़ पर उतर आया। जिसके चलते इंदौर में कांग्रेसियों ने सरकार को घेरा। हालांकि विरोध के दौरान कांग्रेस के पूर्व मंत्री और कार्यकर्ताओं के व्यक्तिगत हितों में बंटी नजर आई। जहां प्रदेश के पूर्व केबिनेट मंत्री जीतू पटवारी ने कांग्रेस के एक बड़े धड़े के साथ सायकिल यात्रा कर मूल्य वृद्धि का विरोध किया तो दूसरी और कांग्रेस के प्रदर्शनकारी नेता देवेंद्र सिंह यादव ने ठेले पर बाइक रखकर अपना विरोध जताया।

पूर्व मंत्री जीतू पटवारी के साथ सायकिल पर सवार होकर कांग्रेसी नेताओं व कार्यकर्ताओं के साथ शहर की प्रमुख सडक़ों पर विरोध- प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि देश के पीएम मोदी कहते थे कि डॉलर और रुपए को बराबरी पर लाकर खड़ा करेंग, लेकिन देश में कुछ और ही हो रहा है। वर्तमान में हालात ये है कि पेट्रोल और डीजल के दाम बराबरी पर आकर खड़े हो गए। सायकिल यात्रा के जरिये विरोध करने वाली कांग्रेस का एक अलग रूप शहर के मध्य क्षेत्र में देखने को मिला। यहां ठेले पर एक बाइक रख कांग्रेसी नेता देवेंद्र यादव ने ठेला धकाया, ताकि बढ़ती मूल्यवृद्धि पर सरकार ध्यान दे सके। उन्होंने बताया की देश के आम आदमी पर मूल्य वृद्धि की मार पड़ी है, जिसके चलते इंदौर में डीजल के दाम 87 रुपए के करीब और पेट्रोल के दाम 79 रुपए के लगभग पहुंज गए है।

हालांकि कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने कोरोना संकट के बीच अनुमति लेकर विरोध प्रदर्शन का दावा किया और बकायदा मास्क भी लगाए थे, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग न के बराबर दिखी। इधर, विरोध के दौरान बड़ी संख्या में पुलिस बल भी मौजूद था। वही सवाल ये भी उठ रहे कि क्या कांग्रेस में राज्यसभा चुनाव के बाद फिर से गुटबाजी का दौरा शुरू हो गया है।

रोशन लखेरा की रिपोर्ट

blat