कासगंज से कानपुर की तरफ जा रही स्पेशल ट्रेन की चपेट में आया ठेका सफाई कर्मचारी,मौके पर हुई मौत

कानपुर। (द ब्लाट) गुरुवार देर शाम फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर कासगंज से कानपुर की ओर जा रही खाली स्पेशल ट्रेन गुरुवार देर शाम फर्रुखाबाद रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर दो पर आकर रुकी। ठेका सफाई कर्मचारी ने पाइप लेकर ट्रेन के नीचे से निकलने का प्रयास किया, इसी दौरान अचानक ट्रेन चल दी। जिससे कर्मचारी की कटकर मौत हो गई। लोगों ने लापरवाही का आरोप लगाकर आरपीएफ थाने के सामने हंगामा किया।

रेलवे स्टेशन पर ट्रेनों की सफाई का ठेका कानपुर की अवकाश इंटर प्राइजेज के पास है। ठेकेदार के अधीन शहर के मोहल्ला रकाबगंज खुर्द निवासी 22 वर्षीय आदेश वाल्मीकि काम करता था। आदेश देर शाम रेलवे स्टेशन पर सफाई कर रहा था। उसी दौरान प्लेटफार्म नंबर दो पर स्पेशल ट्रेन आकर रुकी। आदेश ने दूसरे प्लेटफार्म पर जाने के लिए पाइप लेकर ट्रेन के नीचे से निकलने का प्रयास किया, तभी ट्रेन चल दी। जिससे आदेश पहिया के नीचे आ गया और उसकी मौत हो गई। घटनास्थल आरपीएफ थाने के सामने था। थाना प्रभारी व अन्य फोर्स भागकर मौके पर पहुंचा। जीआरपी के जवान भी आ गए। कुछ देर बाद आदेश की मां मीना देवी व अन्य स्वजन भी स्टेशन पर आ गए। शव देखकर कोहराम मच गया। समाज के अन्य लोगों ने आरोप लगाया कि रेलवे कर्मियों की लापरवाही से ट्रेन रवाना हो गई। थाने के सामने हंगामा होने लगा। आरपीएफ व
जीआरपी थाना प्रभारी लोगों को समझाने में जुटे रहे।आदेश के परिवार में पत्नी सुमन, पुत्री, छोटा भाई राजेश व बहन कीर्ति हैं। पिता किशन लाल नगरपालिका में कर्मचारी हैं।

स्टेशन अधीक्षक योगेंद्र शाक्य ने बताया कि खाली स्पेशल ट्रेन कानपुर की ओर जा रही थी, उसी से घटना हुई। ट्रेन रवाना हो गई है। आरपीएफ थाना प्रभारी ने बताया कि आदेश ने ट्रेन के नीचे से निकलने का प्रयास किया इसी दौरान ट्रेन चलने से घटना हो गई। इसी प्लेटफार्म पर कानपुर-भिवानी कालिंदी एक्सप्रेस ट्रेन आनी थी, लेकिन घटना होने से कालिंदी का प्लेटफार्म बदलकर तीन नंबर कर दिया गया। जिससे यात्रियों को भागकर दूसरे प्लेटफार्म पर जाना पड़ा। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम हाउस भिजवा दिया।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …