बाइडन और पुतिन ने सीरिया, अफगानिस्तान पर की चर्चा

वाशिंगटन । अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने रूस के अपने समकक्ष व्लादिमीर पुतिन के साथ वार्ता में उनसे सीरिया में अंतरराष्ट्रीय मानवीय सहायता पहुंचाने के अंतिम बिन्दु को बंद करने के प्रयास छोड़ने को कहा जिससे यह स्पष्ट हो गया है कि यह मामला अमेरिका के लिए कितना महत्वपूर्ण है। बहरहाल, इसे खुला रखने पर कोई समझौता नहीं हुआ।

रूस उस मार्ग को बंद करने के लिए संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में वीटो का इस्तेमाल करने की धमकी दे रहा है जिससे सीरिया में गृहयुद्ध से आंतरिक रूप से विस्थापित हुए लाखों सीरियाई नागरिकों को सहायता पहुंचाई जाती है।

दरअसल, रूस ने केवल एक सीमा से मानवीय सहायता पहुंचाने पर जोर देते हुए कहा कि सीरिया सरकार को लाखों जरूरतमंदों को दी जाने वाली हर तरह की सहायता पर नियंत्रण रखना चाहिए।

अब यह मानवीय सहायता तुर्की से सीरिया के विद्रोहियों के कब्जे वाले उत्तर पश्चिमी हिस्से में स्थित केवल एक सीमा से पहुंचाई जा रही है। यह सब सीरिया के करीबी सहयोगी रूस के दबाव के चलते हुआ है।

बाइडन ने कहा कि पुतिन ने अफगानिस्तान के बारे में पूछा और वहां शांति एवं सुरक्षा बनाए रखने की इच्छा जताई।

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा कि उन्होंने पुतिन को बताया कि यह काफी हद तक उनपर निर्भर करता है और पुतिन ने संकेत दिया कि वह ईरान के साथ ही अफगानिस्तान की ”मदद” करने के लिए तैयार हैं।

बाइडन ने वार्ता में उठे मुद्दों को लेकर आगे और जानकारी नहीं दी।

अमेरिका का बाइडन प्रशासन ईरान को परमाणु समझौते की शर्तों का पालन करने के लिए मनाने के नए प्रयास कर रहा है।

अफगानिस्तान में आतंकवादी हिंसा फिर से सिर न उठाए, रूसी राष्ट्रपति ने इस बारे में भी बात की।

बाइडन ने कहा कि ऐसा न होते देखना काफी हद तक रूस के हित में होगा।

Check Also

यरुशलम में बस स्टैंड के पास दो बम धमाकों में एक की मौत, 15 लोग घायल

द ब्लाट न्यूज़ इजरायल की राजधानी यरुशलम में बुधवार को दो बम धमाके हुए हैं। …