10 दिन पहले पहुंचा मानसून, झूमकर बरसे बदरा, 30 एमएम हुई बारिश

बहराइच । जिले में मानसून ने दस्तक दे दी है। पहले अनुमान लगाया जा रहा था कि मानसून जून के अंतिम सप्ताह में दस्तक देगा, लेकिन मानसून 10 से 15 दिन पहले ही पहुंच गया है। जिसकी वजह से रविवार को सुबह से ही रिमझिम बारिश शुरू हो गई। जो शाम 5:12 बजे भी जारी थी। हवाओं व बारिश से तापमान चार डिग्री लुढ़कर 29 डिग्री पहुंच गया। वहीं शहर व गांवों में जलभराव की स्थिति उत्पन्न हो गई है। कई इलाकों में बिजली ठप हो गई, जो शाम तक भी बहाल नहीं हो सकी थी।

मानसून पहुंचने से रविवार की सुबह से ही जिले में रिमझिम फुहारें पड़ने लगीं। थोड़ी ही देर में बारिश तेज हो गई, जो लगातार पूरे दिन जारी रही। शहर में बालक व किशोर साइकिल से मस्ती करते हुए बारिश में भीगते देखे गए। वहीं इंदिरा स्टेडियम, कचेहरी रोड, बख्शीपुरा, चांदपुरा-घंटामार्ग सहित विभिन्न इलाकों में जलभराव हो गया। ग्रामीण इलाकों में हालत खराब हैं। यहां गलियों व चकरोड पर तो जलभराव हुआ ही है, लगातार बारिश की वजह से मनरेगा की ओर से कराया जा रहा मिटटी पटाई कार्य बाधित हो गया। हालांकि तेज हवाएं न चलने से कहीं भी पेड़ गिरने व जनहानि की सूचना नहीं है। विशेश्वरगंज कस्बा, फखरपुर बाजार, मिहींपुरवा इलाके, नानपारा के विभिन्न मोहल्लों व शिवपुर बाजार में मार्ग पर पानी भर जाने से आवागमन बाधित हो गया है।

न्यूनतम 21 डिग्री पर ठिठके तापमान से राहत
बहराइच। मौसम विभाग की ओर से रविवार का 30 मिलीमीटर बारिश रिकार्ड की गई है। इस दौरान अधिकतम तापमान 29 व न्यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस रहा। जबकि 13 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से पुरवा हवाएं चलती रहीं। जिससे वातावरण से उमसभरी गर्मी नदारद रही। सापेक्षिक आद्रता अधिकतम 71 व न्यूनतम 63 प्रतिशत रही। बारिश के बाद तापमान में 3 से 4 डिग्री सेंटीग्रेट की गिरावट दर्ज की जाएगी।

रिसिया में 11 बजे से दिन भर होती रही बारिश
बहराइच। रिसिया क्षेत्र में रविवार को सुबह से बादलों ने डेरा डाल दिया था। काले घने बादलों के साथ ठंडी ठंडी हवा भी बह रही थी। सुबह 11 बजे से शुरू हुई बारिश दिनभर होती रही। दोपहर ती बजे बारिश तेज हो गयी, जो शाम को भी जारी रही। नाली नाले चोक हो गए। सड़कों पर जल भराव के हालात बन गए हैं। दोपहर को हुई बारिश से सड़कों पर पानी का बहाव तेज हो गया। जिससे सड़क ने नाले का रूप ले लिया। इस बारिश से आम जन को काफी परेशानी उठानी पड़ी है।

नेपाल में भी मानसून ने दी दस्तक
बहराइच व श्रावस्ती से सटे नेपाली जिला बांके, बर्दिया, सुर्खेत, दांग व कैलाली जिलों में भी थम थम कर बारिश होने के समाचार मिले हैं। रविवार की सुबह से ही बारिश शुरू हो गई। नेपाल सीमा से सटे रुपईडीहा, बाबागंज, चरदा, नवाबगंज व जमोग आदि छोटे बड़े कस्बों में सुबह से ही कभी हल्की कभी भारी बारिश हो रही है।

दक्षिणी-पश्चिमी मानूसन से होगी सामान्य बारिश
मौसम वैज्ञानिकों ने इस बार दक्षिणी व पश्चिमी मानसून के सक्रिय होने की वजह से सामान्य बारिश का अनुमान जताया है। कृषि विज्ञान केन्द्र प्रथम के प्रधान कृषि वैज्ञानिक व मौसम प्रभारी डॉ. एमपी सिंह ने अगले 5 से 6 दिन तक बादल छाए रहने तथा हल्की से माध्यम वर्षा होने की संभावना जताई है। उन्होंने कहा कि ऐसे में किसान भाई सब्जियों के खेतों में जल निकासी की व्यवस्था कर लें।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …