कैसरगंज सीएचसी में नहीं होता एक्सरे और पैथालॉजिकल जांचें

बहराइच । सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र कैसरगंज में डॉक्टरों व संसाधनों की कमी है। जिससे मरीजों को समुचित इलाज नहीं मिल रहा है। यहां सीएचसी के अलावा तीन पीएचसी भी हैं, किन्तु यहां भी न तो संसाधन हैं और न ही पर्याप्त मात्रा में डॉक्टर ही हैं। जिससे क्षेत्रवासियों को इलाज व जांच के लिए जिला मुख्यालय जाना पड़ता है।

सामुदायिक स्वास्थ्य कैसरगंज में 30 एवं महिला चिकित्सालय कैसरगंज में 50 बेड हैं। यहां अल्ट्रासाउंड और एक्स-रे जैसी सुविधाओं का अभाव है। एक्स-रे मशीन कई वर्षों से कमरे में बंद धूल फांक रही है। इसके अलावा पैथालॉजिस्ट व रेडियोलॉजिस्ट की तैनाती भी कई वर्षों से नहीं हो सकी है। ऐसी दशा में लगभग दो लाख आबादी वाले इस क्षेत्र को इलाज कराने के लिए कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। एक्सरे व अल्ट्रासाउंड कराने के लिए मरीजों को बाहर जाना पड़ता है। ज्यादा दिक्कत बढ़ने पर मरीजों को जिला मुख्यालय जाना पड़ता है।

जिला मुख्यालय से लगभग 37 किलोमीटर दूर कैसरगंज ब्लॉक में सीएचसी के अतिरिक्त तीन पीएचसी है, लेकिन मानक के अनुरूप चिकित्सकीय संसाधन नदारद हैं। यहां पैथालॉजी लैब तो है, लेकिन पैथोलॉजिस्ट नहीं। लैब टेक्नीशियन एवं सहायक के माध्यम से खून एवं पेशाब की जांच की जाती है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में 14 की जगह 12 एमबीबीएस व एमएस चिकित्सक तैनात हैं। पेयजल सुविधा के लिए दो आरओ लगाए गए हैं। जो मरीजों एवं स्टाफ की तादाद को देखते हुए बहुत कम हैं।

सीएचसी में प्लांट से होती 25 बेडों पर आक्सीजन आपूर्ति
चिकित्साधीक्षक डॉ.एन के सिंह ने बताया कि सीएचसी कैसरगंज में 50 बेड का एल-1 कोविड चिकित्सालय बनाया गया है। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में ऑक्सीजन प्लांट लगाया गया है। जिसमें 25 बेडों पर ऑक्सीजन सेंट्रल सप्लाई की जा रही है। 15 बेडों पर ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के माध्यम से ऑक्सीजन सप्लाई की जा रही है तथा 10 बेडों पर जंबो सिलेंडर उपलब्ध हैं। तीन बेडसाइड मॉनिटर हैं। यहां आने वाले मरीजों की कोविड जांच की सुविधा उपलब्ध है। रैपिड एंटीजन किट से कोविड की जांच की जाती है। आरटीपीसीआर का सैंपल जांच के लिए जिला मुख्यालय भेजा जाता है।

कैसरगंज के सरकारी अस्पतालों में तैनात चिकित्सकों का विवरण-

अस्पताल आवश्यकता तैनात

सीएचसी कैसरगंज 14 12

पीएचसी कुंडासर 02 01

पीएचसी भकला 02 01

पीएचसी बदरौली 02 01

सीएचसी कैसरगंज में जितने संसाधन उपलब्ध हैं, उनसे मरीजों को बेहतर चिकित्सा सेवा देने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। अल्ट्रासाउंड व एक्सरे की व्यवस्था नहीं है। एक्स-रे मशीन खराब है। पैथालॉजिस्ट व रेडियोलोजिस्ट की कमी है। इसके लिए मुख्य चिकित्साधिकारी को अवगत कराया जा चुका है।
-डॉ.एनके सिंह, अधीक्षक सीएचसी कैसरगंज

Check Also

तिरंगा यात्रा के वीडियो में आपत्तिजनक ऑडियो डालकर वायरल करने का आरोपी गिरफ्तार

द ब्लाट न्यूज़ । तिरंगा यात्रा के वीडियो का संपादन कर वीडियो में कथित आपत्तिजनक …