ग्राम प्रधान और बीडीसी आरक्षण के लिए ट्रेनिंग लेकर लौटे अफसर

पीलीभीत। ग्राम प्रधान, जिला पंचायत सदस्य, बीडीसी और ग्राम पंचायत सदस्यों के आरक्षण को जिला स्तर पर तय करने के लिए अब अफसरों का दल ट्रेनिंग लेकर राजधानी लखनऊ से लौट आया है।

पीलीभीत जिले में 720 ग्राम प्रधान, 34 जिला पंचायत सदस्य, 845 बीडीसी व ग्राम पंचायत सदस्यों के पद पर आरक्षण आवंटन होना है। इसको लेकर 19 फरवरी को गांधी सभागार में डीएम पुलकित खरे की अध्यक्षता में एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसमें बीडीओ, एडीओ और प्रत्येक ब्लाक के दो सचिवों को प्रशिक्षण दिया जाएगा। आरक्षण को लेकर जो गाइडलाइन है, उसके तरह कैसे आवंटन होना है, इसकी पूरी जानकारी दी जाएगी। जिले में जल्द आरक्षण आवंटन हो इसको लेकर डीपीआरओ और एएमए लखनऊ में एक दिवसीय प्रशिक्षण भी ले चुके है। डीपीआरओ प्रमोद कुमार यादव ने बताया कि मंगलवार को लखनऊ में प्रशिक्षण के लिए बुलाया गया था। अब जिलास्तर पर बीडीओ, एडीओ को प्रशिक्षया दिया जाएगा। इसमें ग्राम प्रधान, बीडीसी और ग्राम पंचायत सदस्यों का आरक्षण आवंटन के लिए सम्बंधित बीडीओ को जिम्मेदारी दी जाएगी।

आज दी जाएगी ट्रेनिंग : 

प्रधान, बीडीसी, ग्राम पंचायत सदस्य व जिला पंचायत सदस्य पदों के आरक्षण को लेकर ब्लॉक स्तरीय अधिकारियों को ट्रेनिंग दी जाएगी। 18 फरवरीको शाम चार बजे कलक्ट्रेट सभागार में सभी को बुलाया गया है। 16 फरवरी को लखनऊ में अपर मुख्य सचिव पंचायती राज मनोज कुमार सिंह ने शासनादेश के तहत निदेशालय स्तर पर डीपीआरओ व जिला पंचायत के अपर मुख्य अधिकारी ट्रेनिंग लेकर लौट आए हैं। अब जिलेस्तर पर स्थानीय अधिकारियों को भी पदों के आरक्षण के बाबत प्रशिक्षण दिया जाएगा। सीडीओ आरएन सिंह ने सभी बीडीओ, एडीओ पंचायत, प्रशासक को त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में विभिन्न पदों के आरक्षण को लेकर सभी को समय से आने को कहा है। डीएम राकेश मिश्र की अध्यक्षता में ट्रेनिंग दी जाएगी।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …