जौनपुर में काकोरी कांड के महानायक पंडित राम प्रसाद बिस्मिल की 124 वीं जयंती मनी

जौनपुर । उत्तर प्रदेश में जौनपुर के सरावां गांव में स्थित शहीद लाल बहादुर गुप्त स्मारक पर आज हिंदुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन आर्मी व् लक्ष्मी बाई ब्रिगेड के कार्यकर्ताओ ने काकोरी काण्ड के महानायक पंडित राम प्रसाद बिस्मिल की 124 वीं जयंती मनाई।

इस अवसर पर कार्यकर्ताओ ने शहीद स्मारक पर मोमबत्ती व् अगरबत्ती जलाई और अमर शहीद श्री बिस्मिल को याद करते हुए उन्हें अपनी श्रद्धांजलि दी।

उपस्थित लोगो को संबोधित करते हुए लक्ष्मी बाई ब्रिगेड की अध्यक्ष मंजीत कौर ने कहा की महान क्रांतिकारी स्वतंत्रता संग्राम सेनानी पंडित राम प्रसाद बिस्मिल का जन्म 11 जून 1897 को उत्तर प्रदेश के शाहजहांपुर जिले में हुआ था।

अमर शहीद चंद्र शेखर आजाद से प्रेरणा लेकर इन्होंने 11 साल की उम्र में देश की आज़ादी की लड़ाई में भाग लेनाशुरू किया।

उन्होंने कहा की 09 अगस्त 1925 को काकोरी काण्ड के बाद इन्हें गिरफ्तार किया गया और अंग्रेजो ने इन्हें सजा -ए- मौत का आदेश दिया।

सुश्री कौर ने कहा कि अंग्रेजो ने 19 दिसम्बर 1927 को प्रदेश के गोरखपुर की जेल में पंडित राम प्रसाद बिस्मिल को फांसी पर लटका दिया।

इनके 3 साथियो क्रमशः रोशन सिंह व् अशफाक उल्लाह खां को 19 दिसम्बर और क्रांतिकारी राजेन्द्र नाथ लाहिड़ी को 2 दिन पूर्व यानी 17 दिसम्बर 1927 को गोंडा जेल फांसी दी गई थी।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …