ईरानी नौसेना के सबसे बड़े युद्धपोत में लगी आग, ओमान की खाड़ी में डूबा

तेहरान । ईरान की नौसेना के सबसे बड़े युद्धपोत में ओमान की खाड़ी में आग लग गई और इसके बाद बुधवार को यह डूब गया। आग लगने की वजह का अभी पता नहीं चला है। ‘फार्स’ समाचार एजेंसी ने बताया कि आग देर रात लगभग दो बजकर 25 मिनट पर लगी और दमकलकर्मियों ने इसे बुझाने की कोशिश की। सरकारी मीडिया की खबर के अनुसार आग लगने के बाद जहाज पर सवार 400 सैनिक भाग गए जिनमें से लगभग 20 घायल हो गए। ‘फार्स’ ने बताया कि युद्धपोत ‘खर्ग’ को बचाने के प्रयास विफल हो गए। इस जहाज का नाम खर्ग द्वीप के नाम पर रखा गया है जो ईरान का मुख्य तेल टर्मिनल है। यह जहाज ओमान की खाड़ी में तेहरान से करीब 1,270 किलोमीटर दक्षिण-पूर्व में जास्क बंदरगाह के पास डूब गया। ईरान में सोशल मीडिया पर चल रही तस्वीरों में जीवनरक्षक जैकेट पहने नौसैनिकों को जहाज से निकलते हुए देखा जा सकता है और उनके पीछे आग नजर आ रही है। उपग्रह से ली गई तस्वीरों में खर्ग जास्क के पश्चिम में पानी में डूबता दिखा। ‘यूएस नेशनल ओशनिक एंड एटमॉस्फेरिक एडमिनिस्ट्रेशन’ के उपग्रहों ने जास्क में एक स्थान पर आग लगते देखी। खर्ग ईरानी नौसेना के उन चुनिंदा जहाजों में से एक था जो समुद्र में अन्य जहाजों को ईंधन मुहैया कराते हैं। यह भारी माल भी ले जा सकता था और इसमें कई हेलीकॉप्टरों के लिए लॉन्च पैड भी थे। इस जहाज का निर्माण ब्रिटेन में हुआ था और ईरान में 1979 की इस्लामिक क्रांति के बाद लंबी बातचीत कर 1984 में इसे नौसेना में शामिल किया गया था। ईरानी अधिकारियों ने खर्ग में आग लगने की वजह नहीं बताई है। ओमान की खाड़ी में वाणिज्यिक जहाजों को निशाना बनाकर 2019 में शुरू हुए रहस्यमयी धमाकों की कड़ी में यह ताजा घटना है। अमेरिकी नौसेना वाणिज्यिक जहाजों को निशाना बनाए जाने का आरोप ईरान पर लगाती रही है। ईरान इन आरोपों से इनकार करता रहा है। हालांकि अमेरिकी नौसेना द्वारा जारी एक फुटेज में रेवोल्यूशनरी गार्ड के सदस्यों को एक जहाज से बिना फटी बारूदी सुरंग को हटाते हुए देखा गया था। तेहरान के साथ हुए परमाणु समझौते से अलग होने के बाद, अमेरिका और ईरान के बीच बढ़े तनाव के बाद ये घटनाएं हुईं। खर्ग जहाज का डूबना ईरान के लिए ताजा नौसैन्य हादसा है। 2020 में ईरानी सेना के अभ्यास के दौरान जास्क बंदरगाह के समीप एक मिसाइल गलती से एक नौसैन्य जहाज से टकरा गयी थी जिससे 19 नाविकों की मौत हो गयी थी और 15 अन्य घायल हो गए थे। 2018 में ईरानी नौसेना का एक युद्धक जहाज कैस्पियन सागर में डूब गया था। अप्रैल में भी ईरान के एक जहाज को निशाना बनाया गया था जिसका संदेह इजराइल पर जताया जाता रहा है। इजराइल के प्रधानमंत्री कार्यालय ने ईरानी युद्धपोत खर्ग से जुड़ी घटना पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

Check Also

यरुशलम में बस स्टैंड के पास दो बम धमाकों में एक की मौत, 15 लोग घायल

द ब्लाट न्यूज़ इजरायल की राजधानी यरुशलम में बुधवार को दो बम धमाके हुए हैं। …