केजीएमयू में 18 लाख आरटी-पीसीआर जांचे हुईं

लखनऊ । प्रदेश में केजीएमयू ने कोरोना जांच का नया रिकार्ड बनाया है। यहां अब तक करीब 18 लाख आरटी-पीसीआर जांचें हो चुकी हैं। ठीक होने के बाद 5000 कोरोना मरीजों को डिस्चार्ज किया जा चुका है।

प्रवक्ता डॉ. सुधीर सिंह के मुताबिक केजीएमयू में 40 हजार लोगों को कोरोना से बचाव की वैक्सीन लगाई जा चुकी हे। उन्होंने बताया कि केजीएमयू में कोरोना मरीजों के लिए बेड बढ़ाए जा रहे हैं। इस समय प्रदेश में सबसे ज्यादा 988 बेड वाला कोरोना हॉस्पिटल संचालित हो रहा हे। 200 से ज्यादा ब्लैक फंगस के मरीज भर्ती हो चुके हैं। सामान्य मरीजों के लिए ट्रॉमा, इमरजेंसी सर्जरी, प्रसूति सुविधाएं, कार्डियोलॉजी, डायलिसिस, नवजाता शिशु और कैंसर का इलाज की सुविधा मरीजों को मुहैया कराई जा रही है।

केजीएमयू डॉक्टरों का कहना है कि यहां कोरोना मरीज काफी भर्ती हैं। ऐसे में दूसरी बीमारियों के लिए आरक्षित अस्पताल सामान्य मरीजों को लें। इससे केजीएमयू में सामान्य मरीजों का दबाव कम होगा। केजीएमयू में कोरोना के गंभीर मरीजों को इलाज मुहैया कराने में आसानी होगी। कोविड व नॉन कोविड मरीजों को एक साथ इलाज मुहैया कराने में अड़चन आ रही है। नॉन कोविड मरीजों में भी संक्रमण का खतरा अधिक है।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …