कोविड बचाव में निगरानी समितियां काफी महत्वपूर्ण : कुशीनगर नोडल अधिकारी पनधारी

कुशीनगर। उत्तर प्रदेश के कुशीनगर जिले के विकास भवन में स्थापित आईसीसीसी में आज शासन द्वारा नियुक्त नोडल अधिकारी पनधारी यादव की अध्यक्षता में कोविड संबंधी बैठक संपन्न हुई। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा डी पी आर ओ द्वारा जनपद में कोविड की स्थिति एवं किये जा रहे प्रयासों पर एक प्रस्तुतिकरण रिपोर्ट दी गयी। इसमें कोविड की स्थिति व संक्रमण से बचाव हेतु उठाये जा रहे विभिन्न कदमो की रूपरेखा प्रस्तुत की गई। जैसे नगरीय व ग्रामीण क्षेत्रों में निरंतर चलाये जा रहे सफाई, सेनेटायजेसन, व फॉगिंग का अभियान, निगरानी समिति की सक्रियता, रैपिड रेस्पॉन्स टीम द्वारा किया जा रहे कार्य, आशा/आंगनवाड़ी कार्यकत्रियों द्वारा किया जा रहे कार्यों पर प्रकाश डाला गया। इसके साथ-साथ जिलाधिकारी राज लिंगम ने भी नोडल अधिकारी को कोविड 19 की स्थिति तथा बचाव की दिशा में किये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों की विस्तार से जानकारी दी। बैठक को संबोधित करते हुए नोडल पनधारी यादव ने निगरानी समितियों पर काफी जोर दिया। उन्होंने कहा कि कोविड बचाव में निगरानी समितियां काफी महत्वपूर्ण है। इनकी सक्रिय भूमिका की जरुरत है। जितनी तेजी से हम टेस्टिंग, सैंपलिंग, कांटेक्ट ट्रेसिंग का कार्य करेंगे कोविड संक्रमण की चुनौती से निपटने में सहायता मिलेगी। उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधिकारी से भी कोविड कार्यो तथा अस्पतालों की स्थिति की जानकारी ली। इसके साथ साथ जनपद में एम्बुलेंस की स्थिति, वेंटीलेटर, ऑक्सिजन, सी टी स्कैन, कोविड हेल्प डेस्क, आईसीसीसी के हेल्प डेस्क के नम्बरों की स्थिति, शिकायतों का स्टेटस व उसके समाधान की प्रगति इत्यादि की विस्तृत जानकारी प्राप्त की। इस क्रम में उन्होंने शिकायत पुस्तिका का भी निरीक्षण किया तथा आवश्यक निर्देश दिए। इस अवसर पर नोडल अधिकारी, जिलाधिकारी के अलावा मुख्य विकास अधिकारी अनुज मलिक, अपर पुलिस अधीक्षक एपी. सिंह, प्रभारी अपर जिलाधिकारी रामकेश यादव, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ नरेन्द्र गुप्ता समेत संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।

Check Also

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्कूली बच्चों के साथ बनाया आजादी का अमृत महोत्सव

लखनऊ,द ब्लाट। हाथों में राष्ट्रध्वज तिरंगा, मन में राष्ट्र के लिए कुछ कर गुजरने की …