बिहार विधानसभा में लोकतंत्र की हुई हत्या : सुरजेवाला

 

पटना। मंगलवार को विधानसभा में सशस्त्र सुरक्षा बल बिल पास करने के दौरान विधानसभा में पुलिस और विपक्ष के विधायकों के बीच जमकर हाथापाई हुई। देर शाम तक हुई इस घटना पर अब राजनीतिक रंग चढ़ता दिखने लगा है। विधानसभा में पुलिस और विपक्ष के विधायकों के बाच हुई हाथापाई को लेकर कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि सरकार में बैठे राजनीतिक दलों की गुंडागर्दी चरित्र और चेहरा बन चुकी है। सुरजेवाला ने बिहार के कांग्रेसजनों और आम जनता को आवाहन करते हुए कहा कि इस तानाशाह रवैये के खिलाफ मजबूती से खड़ा होने का वक्त आ गया है। कांग्रेस के राष्ट्रीय स्तर के नेता ने कल की घटना को लोकतंत्र की हत्या बताया। कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला ने विधानसभा के भीतर हुई इस घटना की निंदा की। उन्होंने कहा बिहार की जदयू और भाजपा की सरकार तानाशाही हो चुकी है जिस तरीके से विधायकों को पुलिस के द्वारा पिटवाया गया, उससे सरकार का तानाशाही रवैया साफ दिखता है। ‘नीतीश सरकार ने जिस विधेयक को सदन में पेश किया है, उससे पुलिस को असीमित ताकत मिलेगी। वह राज्य में किसी भी नागरिक को बिना कारण बताए जेल के अंदर डाल देगी। इसी बिल का विरोध राज्य की जनता के द्वारा चुने गए विधायक कर रहे थे। भारतीय जनता पार्टी और जनता दल यूनाइटेड गुंडागर्दी के साथ सरकार चलाना चाहती है जिस तरह से देश की संसद की गरिमा को तार-तार किया जा रहा है। अब बिहार विधानसभा में भी लोकतंत्र नहीं बचा है’। सरकार में बैठे राजनीतिक दलों की गुंडागर्दी चरित्र और चेहरा बन चुकी है। सुरजेवाला ने बिहार के कांग्रेसजनों और आम जनता को आवाहन करते हुए कहा कि इस तानाशाह रवैये के खिलाफ मजबूती से खड़ा होने का वक्त आ गया है। सत्ता पक्ष द्वारा चुने गए विधायकों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है। इस तरह की हरकतें देश में सत्ता पक्ष में बैठे लोग कर रहे हैं। उससे देश में संविधान बचना मुश्किल है। तानाशाही सरकार का अंत करने के लिए राज्य के हर नागरिक को एकजुट होना होगा।

Check Also

देर रात पुलिस कमिश्नर ने कानपुर का लिया चार्ज, दिए सभी को आदेश

Author:- Rishabh Tiwari कानपुर। कानपुर पुलिस कमिश्नरेट के सुबह के पुलिस आयुक्त बी.पी. जोगदण्ड ने …